बीसीसीआई प्रेसीडेंट ने कहा – धोनी टॉप ऑर्डर में ज्यादा घातक बैटिंग करते है

0
133

इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली का कहना है कि महेंद्र सिंह धोनी को टॉप ऑर्डर में बल्लेबाजी करनी चाहिए, क्योंकि वो वहां ज्यादा घातक हो जाते हैं। गांगुली ने कहा कि मुझे खुशी है कि भारतीय टीम को एक धोनी मिला है, क्योंकि वो बेमिसाल है। गांगुली बीसीसीआई के ट्विटर हैंडल पर इंडियन ओपनर मयंक अग्रवाल के चैट शो पर ये बातें कह रहे थे।

धोनी दुनिया के महान क्रिकेटरों में से एक- गांगुली
गांगुली ने कहा- केवल एक फिनिशर के तौर पर नहीं, बल्कि धोनी दुनिया के महान क्रिकेट खिलाड़ियों में से एक हैं। हर कोई इस बारे में बात करता है कि धोनी ने निचले क्रम में किस तरह से मैच को फिनिश किया। मेरा हमेशा से मानना रहा है कि धोनी को ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी करनी चाहिए, क्योंकि वो बहुत ही विध्वंसक बल्लेबाज है।

सचिन पर भी गांगुली ने किया खुलासा
इस चैट शो में गांगुली ने कहा है कि सचिन तेंदुलकर हमेशा मुझे ही पहली गेंद पर स्ट्राइक लेने के लिए कहते थे। गांगुली ने कहा कि पहले स्ट्राइक न लेने के पीछे हमेशा सचिन के पास दो वजहें होतीं थीं। अच्छे फॉर्म में होने पर सचिन कहते कि उन्हें नॉन-स्ट्राइकर एंड पर बने रहना चाहिए। फॉर्म खराब होने पर कहते थे कि मुझे नॉन-स्ट्राइकर एंड पर रहना चाहिए।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अपेक्स काउंसिल की बैठक 17 जुलाई को होगी। भारत में क्रिकेट की वापसी को लेकर फ्यूचर टूर प्रोग्राम (एफटीपी), घरेलू सीजन के कार्यक्रम को तैयार किया जा सकता है। साथ ही आईपीएल स्पॉन्सर वीवो को लेकर भी चर्चा की उम्मीद है।

काउंसिल की कैग सदस्य अल्का रेहानी ने कहा- जिन पदाधिकारियों के कूलिंग पीरियड में जाने को लेकर कोर्ट का फैसला नहीं आया है, उन पर भी बात हो।

मीटिंग में सिर्फ योग्य अधिकारी शामिल हों: अल्का
अल्का ने कहा- बैठक में केवल योग्य पदाधिकारी ही शामिल हों और इस मुद्दे को एजेंडे पर रखने की आवश्यकता है, क्योंकि बोर्ड अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सचिव के कार्यकाल या तो समाप्त हो गए हैं या जल्द ही समाप्त हो रहे हैं। बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट से अपने अध्यक्ष सौरव गांगुली, सचिव जय शाह और संयुक्त सचिव जयेश जार्ज के कार्यकाल को बढ़ाने के साथ अनिवार्य अनुकूलन अवधि (कूलिंग ऑफ पीरियड) से छूट की मांग की है।

हर आम और खास व्यक्ति की तरह क्रिकेटर चेतेश्वर पुजारा भी लॉकडाउन के बाद से ही परिवार के साथ कीमती वक्त बिता रहे हैं। साथ ही एक खिलाड़ी होने के नाते खुद को फिट रखने पर भी फोकस रखे हुए हैं। मैदान से दूर चार महीने से पिता, पत्नी और बेटी के साथ वक्त बिता रहे पुजारा कहते हैं कि- लॉकडाउन से सीख मिली है कि भागदौड़ भरी जिंदगी से परिवार के लिए वक्त निकालना बहुत जरूरी है।

पुजारा ने कहा- मैं सभी फॉर्मेट में खेलने के लिए फिट हूं। घरेलू क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में मेरा प्रदर्शन अच्छा रहा है।

हैंड-ऑई को-ऑर्डिनेशन साधने पर देना होगा जोर
पुजारा सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा की उस बात का समर्थन करते हैं जिसमें शर्मा ने कहा था कि लॉकडाउन के बाद बल्लेबाज जब मैदान पर उतरेंगे तो उन्हें हैंड-ऑई को-ऑर्डिनेशन में तकलीफ से दो-चार होना पड़ेगा। पुजारा का कहना है कि हर खिलाड़ी की मानसिकता अलग होती है। बल्लेबाज हो या गेंदबाज लंबे समय के बाद मैदान में उतरने पर खिलाड़ियों को लय पकड़ने में वक्त लगता ही है। हां, प्री-प्रिपरेशन के लिए दो महीने का वक्त मिले तो सभी खिलाड़ी खुद को फिट हो सकते हैं।

थूक से गेंद चमकाने पर प्रतिबंध सही
गेंद को थूक से चमकाने पर लगे प्रतिबंध का समर्थन करते हुए पुजारा ने कहा कि आईसीसी ने यह निर्णय मौजूदा हालात और खिलाड़ियों सहित सभी की सुरक्षा सहित कारणों को मद्देनजर रखते हुए लिया है जो उचित है। महामारी के मद्देनजर ये फैसला लिया गया है जो संभव है आगामी दिनों में हट भी जाए।

करियर में दूसरी बार इतना लंबा ब्रेक
2009 और 2011 में चोट की वजह से ऑपरेशन करवाना पड़ा। तब 6 माह से ज्यादा आराम करना पड़ा था। उसके बाद दूसरा मौका है जब इतने लंबे समय से आराम कर रहा हूं। वैश्विक महामारी में चार महीने से परिवार के साथ हूं-मददगार होते हुए सक्रिय हूं।

क्रिकेट मुकाबले कब से
फिलहाल तो ऐसे कोई आसार नजर नहीं आते। मेरा मानना है कि अभी कुछ और वक्त तक इंतजार करना होगा-ये जरूरी है। हां, आउट डोर प्रैक्टिस शुरू होने से खिलाड़ी लाभान्वित होंगे।

विदेशी टी-20 लीग में मिलें अवसर
विदेश की लीग टूर्नामेंट में खेलने की इच्छा तमाम क्रिकेटरों की होती है लेकिन इसका निर्णय बीसीसीआई करती है। क्रिकेट जगत में इंडियन प्रीमियर लीग बहुत ही प्रचलित है जिसमें देश के खिलाड़ियों को अवसर मिलते ही है। बोर्ड की इच्छा है कि विदेशी लीग टूर्नामेंट के मुकाबले क्रिकेटर आईपीएल ज्यादा खेलें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here